logo
Shuru
Your city's app
download

लोकसभा चुनाव 2019

 

भारत में 2019 का लोकसभा चुनाव देश के हाल के इतिहास में सबसे महत्वपूर्ण घटनाओं में से एक था। चुनाव 11 अप्रैल से 19 मई तक सात चरणों में हुए थे, और परिणाम 23 मई, 2019 को घोषित किए गए थे। यह चुनाव दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक अभ्यास था, जिसमें 90 करोड़ से ज्यादा मतदाताओं ने हिस्सा लिया था।  लोकसभा भारतीय संसद का निचला सदन है और इसमें 545 सदस्य होते हैं। 

 

लोकसभा चुनाव परिणाम 2019 

 

दलमतदान%सीट
भारतीय जनता पार्टी229,076,87937.30303
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस119,495,21419.4652
तृणमूल कांग्रेस24,929,3304.0622
बहुजन समाज पार्टी22,246,5013.6210
समाजवादी पार्टी15,647,2062.555
वाईएसआर कांग्रेस पार्टी15,537,0062.5322
द्रविड़ मुनेत्र कड़गम14,363,3322.3424
शिवसेना12,858,9042.0918
तेलुगु देशम पार्टी12,515,3452.043
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी)10,744,9081.753
बीजू जनता दल10,174,0211.6612
जनता दल (यूनाइटेड)8,926,6791.4516
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी8,500,3311.385
अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम8,307,3451.351
तेलंगाना राष्ट्र समिति7,696,8481.259
राष्ट्रीय जनता दल6,632,2471.080
शिरोमणि अकाली दल3,778,5740.622
वंचित बहुजन आघाड़ी3,743,5600.610
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी3,576,1840.582
जनता दल (सेक्युलर)3,457,1070.561
लोक जनशक्ति पार्टी3,206,9790.526
आम आदमी पार्टी2,716,629 0.441
पट्टाली मक्कल काची2,297,4310.370
जन सेना पार्टी1,915,1270.310
झारखंड मुक्ति मोर्चा1,901,9760.311
नाम तमिलर काची1,695,0740.280
मक्कल निधि माईम1,613,7080.260
इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग1,592,4670.263
असम गण परिषद1,480,6970.240
राष्ट्रीय लोक समता पार्टी1,462,5180.240
राष्ट्रीय लोकदल1,447,3630.240
ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट1,402,0880.231
ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन1,201,5420.202
अपना दल (सोनेलाल)1,039,4780.172
हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा (सेक्युलर)956,5010.160
देसिया मुरपोक्कू द्रविड़ कज़गम929,5900.150
झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातांत्रिक)750,7990.120
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) लिबरेशन711,7150.120
रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी709,6850.121
विकासशील इंसान पार्टी660,7060.110
राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी660,0510.111
ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन648,2770.111
जननायक जनता पार्टी619,9700.100
भारतीय ट्राइबल पार्टी539,3190.090
विदुथलाई चिरुथिगल काची507,6430.081
नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी500,5100.081
बहुजन विकास अघाड़ी491,5960.080
लोक इंसाफ पार्टी469,7840.080
बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट446,7740.070
नेशनल पीपुल्स पार्टी425,9860.071
केरल कांग्रेस (एम)421,0460.071
यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल416,3050.070
बहुजन मुक्ति पार्टी405,9490.070
सोशलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया (कम्युनिस्ट)403,8350.070
अम्बेडकराईट पार्टी ऑफ़ इंडिया381,0700.060
भारत धर्म जन सेना380,8470.060
नागा पीपुल्स फ्रंट363,5270.061
प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया)344,5460.060
ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक322,5070.050
सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी313,9250.05
पंजाब एकता पार्टी296,6200.050
जम्मू और कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस280,3560.053
यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी267,2560.040
अखिल भारतीय एनआर कांग्रेस247,9560.040
इंडियन नेशनल लोकदल240,2580.040
मिजो नेशनल फ्रंट224,2860.041
तमिल मनीला कांग्रेस220,8490.040
गोंडवाना गणतंत्र पार्टी210,0880.030
जनसत्ता दल (लोकतांत्रिक)203,3690.030
सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ़ इंडिया169,6800.030
सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा166,9220.031
नवां पंजाब पार्टी161,6450.030
केरल कांग्रेस155,1350.030
सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट154,4890.030
पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया (डेमोक्रेटिक)153,1030.020
जम्मू और कश्मीर पीपुल्स कॉन्फ्रेंस133,6120.020
हिंदुस्तान निर्माण दल122,9720.020
उत्तम प्रजाकीया पार्टी120,8000.020
भारतीय शक्ति चेतना पार्टी105,9970.020
वोटर्स पार्टी इंटरनेशनल105,9720.020
निर्दलीय16,485,7732.684
उपरोक्त में से कोई नहीं6,522,7721.06
नियुक्त एंग्लो-इंडियन2-
कुल614,172,823100.005450

 

साल 2019 का लोकसभा चुनाव मुख्य रूप से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) और राहुल गांधी के नेतृत्व वाली भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (INC) के बीच लड़ा गया था। अन्य क्षेत्रीय दलों और गठबंधनों ने भी चुनाव लड़ा, लेकिन भाजपा और कांग्रेस दो मुख्य दावेदार थे।

भाजपा ने आर्थिक विकास, राष्ट्रीय सुरक्षा और हिंदू राष्ट्रवाद के मुद्दे पर प्रचार करते हुए चुनाव लड़ा। पार्टी का प्रचार नारा था "मोदी है तो मुमकिन है"। भाजपा ने बीते पांच वर्षों की अपनी उपलब्धियों पर प्रकाश डाला, जिसमें गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी), सरदार पटेल की प्रतिमा का निर्माण और पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक शामिल है।

जबकि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने रोजगार, कृषि संकट और भ्रष्टाचार जैसे मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किया। पार्टी ने गरीबों को न्यूनतम आय की गारंटी देने, कृषि से जुड़ा कर्जा माफ करने और सार्वजनिक क्षेत्र में रोजगार लाने का वादा किया। पार्टी का अभियान नारा था "अब होगा न्याय"।

चुनाव में मतदान का उच्च स्तर देखा गया, जिसमें 67% से ज्यादा योग्य मतदाताओं ने अपना मत डाला। भाजपा स्पष्ट विजेता के रूप में उभरी, उसने 303 सीटें जीतीं और पर्याप्त बहुमत हासिल किया। दूसरी ओर, कांग्रेस ने सिर्फ 52 सीटें जीतीं, जो कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का अब तक का सबसे खराब प्रदर्शन रहा।

भाजपा की जीत का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व और हिंदू राष्ट्रवाद के प्रभाव को दिया गया। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के खराब प्रदर्शन को मतदाताओं से जुड़ने में उसकी विफलता बताया गया। 

साल 2019 के लोकसभा चुनाव का भारत के राजनीतिक परिदृश्य पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ा। इस चुनाव ने देश में एक प्रमुख राजनीतिक शक्ति के रूप में कांग्रेस की गिरावट को भी चिह्नित किया। अब यह देखना बाकी है कि यह चुनाव भारत के भविष्य को कैसे आकार देंगे।

 

Upcoming Elections: More Articles